Sarkari News

अब बिना राशन कार्ड के मुफ्त में ले सकते हैं 5 किलो राशन | करना होगा ये काम

बिना राशन कार्ड के ऐसे प्राप्त करें मुफ्त में राशन:- जैसा आपको पता होगा की हाल में 30 जून 2020 को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा राष्ट्र के नाम छठा बार संबोधित किया गया है. जिसके दौरान COVID-19 महामारी को लेकर एक बार फिर से देश के गरीब नागरिकों और प्रबासी मजदूरों को मुफ्त में मिलने वाली गरीब कल्याण अनाज योजना की अवधि को 5 महीने यानि नवंबर महीने तक बढ़ा दिया गया है, साथ ही यह भी कहा गया है की देश के जिन गरीब नागरिकों या मजदुर लोगों के पास राशन कार्ड नहीं हैं उनको भी इस योजना के तहत 5 किलो राशन चावल या गेहूं और एक किलो चना मुफ्त में दिया जायेगा|

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण भाग 2 योजना के अंतर्गत इस योजना का ऐलान किया गया है, तो ऐसे में जिन लोगो का राशन कार्ड अभी तक नहीं बना है वो भी इस गरीब कल्याण योजना का लाभ उठा सकते हैं. और अगर जो लोग अपना नया राशन कार्ड बनवाने के लिए सोच रहे हैं, तो अपने राज्य के नजदीकी जन सुविधा केंद्र में जाकर न्यू राशन कार्ड भी बनवा सकते हैं|

पीएम गरीब कल्याण योजना का लाभ नवंबर तक मिलेगा

कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताविक केंद्रीय खाद्द मंत्री और आपूर्ति बिभाग मंत्री रामविलास पासवान ने हाल ही में कहा है की प्रधानमंत्री जी के द्वारा ३० जून २०२० को राष्ट्र के नाम किये गए अपने संबोधन में देश के मौजूदा स्थितियों और देश में अगले महीने में पड़ने वाले त्‍योहारों को देखते हुए पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को अगले पांच महीने यानि नवंबर 2020 महीने तक बढ़ा दिया गया है|

इसके अंतर्गत देश के 80 करोड़ से अधिक राशन कार्ड धारकों को उनकी मासिक पात्रता के अलावा उनके परिवार के प्रति व्‍यक्ति पर 5 किलो अनाज और 1 किलो चना उपलब्‍ध करवाया जायेगा. इसके संबंध में विभाग द्वारा 30 जून 2020 को राज्‍य सरकारों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं और साथ ही राज्य सरकारों से कहा गया है कि अगले 5 महीने के लिए अनाज का बितरण शुरू करना शुरू कर दिया जाए|

खाद्द और आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान के मुताविक अगर किसी के पास अपना राशन कार्ड नहीं है तो उन्हें अपना आधार कार्ड ले जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, जिसके बाद उन्हें राशन प्राप्त करने के लिए स्लिप दी जाएगी. और उस स्लिप को दिखाने के बाद बिना राशन कार्ड धारक को मुफ्त में अनाज प्रदान किया जायेगा. जबकि इस योजना में किसी गरीब को किसी प्रकार की समस्या ना हो इसके लिए राज्य सरकारों को जिम्मेदारी दी गई है की वह इन गरीब मजदूरों को मुफ्त में राशन प्राप्त करने का सुनिश्चित कराएं|

मुफ्त राशन बाटने में राज्य सरकार की महत्वपूर्ण भूमिका

अब आप सभी को बता दें की भारत सरकार द्वारा लॉकडाउन लागु करने के बाद से ही ऐसे नागरिक जिनके पास राशन कार्ड नहीं थे, उन्हें भी मुफ्त में राशन प्रदान करने की घोषणा की गई थी. जिसके तहत दिल्ली सहित कई अन्य राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों ने भी इस निर्देश का पालन करते हुए मुफ्त में राशन प्रदान करना शुरू किया था|

आप जानते होंगे की इस योजना को भारत में तिन माह पहले ही लागु किया गया था, लेकिन पीएम मोदी ने इस 30 जून 2020 को राष्ट्र के नाम संबोधन में इस योजना को नवंबर महीने तक बढ़ा दिया गया है. साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है की इस योजना को नवंबर तक लागु करने में कुल 90 हजार करोड़ रुपये का खर्च है. और जब से शुरू की गई तब से नवंबर तक तक़रीबन 1.50 लाख करोड़ रुपये का खर्च आएगा|

बिन राशन कार्ड धारकों को मिलेगा 5 किलो राशन

तो ऐसे में प्रवासी जिन मजदूरों के पास अभी राशन कार्ड नहीं हैं उन्हें अभी से पांच महीने तक 5 किलो राशन और 1 किलो चना जरुर मिलेगा. जो इस योजना में केंद्र सरकार को मानना है की इसमें लगभग 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों का फायदा पहुँच रहा है|

जबकि इसमें कई राज्य सरकारों ने ऑनलाइन के माध्यम से योजना का लाभ लोगों तक पहुंचा रही है, और दिल्ली सरकार ने इसके लिए अलग से एक ऑनलाइन सेवा शुरू की है, जिसमें आवेदन करने के बाद उन्हें राशन मिल रहा है|

महत्वपूर्ण जानकारी:-

सबसे गौरवतल है कि राशन कार्ड एक सरकारी दस्ताबेज है जिसकी मदद से सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के तहत उचित मूल्य की दुकानों से गेहूं, चावल आदि बाजार मूल्य से बेहद कम दाम पर खरीदा जा सकता है|

इसके अलावे आप इस योजना से सम्बंधित और कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं|

About the author

A to Z Classes

We provide you latest job information, shortcut math tricks, shortcut gk tricks and a lot of updates in Hindi. So Bookmark this site by Ctrl+D on You Laptop :)

Leave a Comment