Sarkari Yojna

Bihar बाढ़ से प्रभावित परिवारों को मिलेंगे 6-6 हजार रुपये, लिस्ट तैयार करने का निर्देश

Bihar Badh Sahayata Yojna:- हर साल के मॉनसून की तरह इस साल का मॉनसून भी बिहार के कई जिलों में तबाही मचा रखी है, बिहार के कई ऐसे जिलें हैं जो बाढ़ से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चूका है, ऐसे में ना तो राज्य सरकार इस समस्या पर ध्यान दे रही है ना हीं केंद्र सरकार की तरफ से कोई निर्णय लिया जा रहा है. लेकिन कुछ रिपोर्ट के मुताविक बिहार सरकार द्वारा बिहार के 10 जिलों में बाढ़ की घोषणा की गई है|

जिसमे कहा गया है की बिहार में बाढ़ से क्षतिग्रस्त इलाकों के पर्त्येक प्रभावित परिवारों को सरकार की ओर से 6-6 हजार रुपये उनकी आर्थिक मदद के लिए दिए जायेंगे. और साथ हीं राज्य के जिन-जिन जिलों में बाढ़ के कारण जिन परिवारों का कच्चा मकान या पक्का मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चूका है, या फिर जिन लोगों का फसल बर्बाद हुई है उन्हें भी सरकार की तरफ से सहायता राशी प्रदान की जाएगी. और इसके आलावा पशुओं गाय, भैंस, बैल जैसे बड़े मवेशी या तो भेड़, बकरी आदि का नुकसान होने पर भी सरकार द्वारा सहायता दी जाएगी|

आपदा प्रबंधन विभाग ने जारी की आदेश

बिहार सरकार द्वारा घोषणा करते हुए काहा गया की बिहार के जिन-जिन जिलों में बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त हुआ है उन सभी परिवारों को बिहार बाढ़ रहत योजना के तहत 6,000 रुपये की राशी दी जाएगी. और जिनका बाढ़ के कारण कच्चा मकान, पक्का मकान भी क्षतिग्रस्त हुई है तो उन्हें भी आर्थिक मदद की जाएगी, और जिन लोगों का फसल बर्बाद हुए हैं, या तो पशुओं का नुकसान पहुंचे हैं उन्हें भी इसके एबज में राज्य सरकार मुआबजा प्रदान करेगी|

बिहार के इन 10 जिलों में बाढ़ से प्रभावित

बैसे तो इस मॉनसून के कारण बिहार में बाढ़ का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ते हीं जा रही है, लेकिन अभी तक जो बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है वो बिहार के 10 जिला निम्नलिखित है|

बिहार में अभी बाढ़ से प्रभावित 10 जिले:- सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगड़िया, पूर्वी व पश्चिमी चम्पारण बाढ़ से ज्यादा प्रभावित हैं. इन जिलों में अभी लगभग 6.36 लाख से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित है, इसलिए इन प्रभावित लोगों को सहायता देने के लिए आपदा प्रबंधन ने लोगों की पहचान कर उनकी सूची तैयार करने का निर्देश जिलों को दिया है. और बहुत जल्द इस बिहार बाढ़ सहायता योजना का लाभ दिया जायेगा|

कैसे तैयार की जाएगी सूची, इसमें कौन सी जानकारी शामिल होगी

इसके बिभाग द्वारा मिली जानकारी के अनुसार बाढ़ से प्रभावित इलाके के सभी परिवारों को सहायता अनुदान यानि जीआर मद में 6 हजार रुपये दिया जायेगा, और जिन परिवारों को गाय, भैंस, बकरी, मकान आदि की हानि हुई है उसकी भी अलग से राशी उपलब्ध कराई जाएगी. इसके लिए राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन बिभाग के अधिकारी इन प्रभावित परिवारों की सूची तैयार करेंगे, जो की सूची तैयार करते वक्त सभी लोगों का नाम, पता और उनका बैंक अकाउंट नंबर भी लिया जायेगा|

उसके बाद सरकार द्वारा प्रभावितों को 6 हजार रुपये DBT के माध्यम से सीधे बैंक खातों में हस्तांतरित की जाएगी, ताकि कोई बिचौलिया बीच मे न आये|

बिहार बाढ़ सहायता योजना मुख्य तथ्य

योजना का नामबिहार बाढ़ सहायता योजना
बिभागआपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार
लाभार्थीबिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रहने वाले परिवार
लाभ6,000 रुपये, साथ हीं फसल, मबेशी और मकान क्षतिग्रस्त होने की अलग से लाभ दिया जायेगा
उद्देश्यबाढ़ से प्रभावित परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना
आवेदनऑफलाइन के माध्यम से आपदा प्रबंधन बिभाग के अधिकारी द्वारा
अधिकारिक वेबसाइटClick Here

आपदा प्रबंधन बिहार सरकार द्वारा क्षतिग्रस्त मकानों व फसल नुकसान का भी ब्यौरा तैयार करने का निर्देश दिया

बिहार के बाढ़ग्रस्त इलाके ने हुए अन्य सभी नुकसान के लिए सभी लोगो को राज्य सरकार द्वारा मदद मिलेगी. आपको बता दें की फसल क्षतिग्रस्त से लेकर मकान व पशु नुकसान में भी सहायता का प्रावधान किया गया है. और बिहार बाढ़ सहायता योजना के तहत जिन जिलों को चयन किया गया है वहां के क्षतिग्रस्त मकानों के साथ ही फसल नुकसान का भी ब्यौरा इसके अधिकारीयों द्वारा तैयार किया जायेगा|

और फसल नुक्सान का विवरण कृषि बिभाग के माध्यम से तैयार की जाएगी, अभी बिभाग ने यथासंभव प्रभावितों की सूची बनाने को आदेश दिया है, ताकि लोगों को जल्द से जल्द सहायता राशि पहुँचाया जा सके. वहीं, बाढ़ में जिन लोगों का गाय, भैंस, भेड़ बकरी से लेकर मुर्गी का भी नुकसान पहुंचा है, तो सरकार उन्हें भी सहायता देगी. इसके अलावे कपड़ा और बर्तन के नुकसान होने पर भी सभी परिवारों को सहायता देने का प्रावधान किया गया है|

नुकसान होने पर इन स्थितियों में इतना मिलेगा मुआवजा

  • 6000 रुपए नकद हरेक बाढ़ प्रभावित परिवार को
  • 1800 रुपए कपड़ा नुकसान होने पर
  • 2000 रुपए बर्तन के लिए
  • 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर फसल
  • 30 हजार रुपए प्रति गाय, भैंस में
  • 3000 रुपए हजार प्रति बकरी, भेड़, सुअर 
  • 25 हजार रुपए प्रति घोड़ा पर
  • 50 रुपये प्रति मुर्गा, अधिकतम 5 हजार
  • 95100 रुपए कच्चा-पक्का मकान नुकसान में
  • 5200 रुपए पक्का मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त में
  • 3200 रुपए कच्चा मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त में
  • 4100 रुपए झोपड़ी के पूर्ण नुकसान होने पर
  • 2100 रुपए जानवर के शेड नुकसान मद में

बिहार बाढ़ग्रस्त क्षेत्र:-

अभी सिर्फ बिहार के 10 जिलों को हीं बाढ़ग्रसित में घोषित किया गया है, जो निम्नलिखित है|

  • 10 जिले (सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगरिया, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण)
  • 55 प्रखंड
  • 282 पंचायत
  • 636000 कुल आबादी प्रभावित
  • 1.50 लाख परिवार बाढ़ प्रभावित

बिहार बाढ़ सहायता योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कैसे करें?

अगर आप बिहार के इन राज्यों से बिलोंग करते हैं और वह क्षेत्र बाढ़ से पूरी तरह प्रभावित हो चूका है तो इसका लाभ लेने के लिए आवेदन नहीं करना होगा, बल्कि आप बाढ़ प्रभावित व्यक्ति हैं तो आपका डाटा राज्य सरकार के द्वारा अधिकारी को भेज कर तैयार करवाया जाएगा. और बाढ़ प्रभावित होने की स्थिति में अलग लिस्ट बनाई जाएगी, साथ हीं अगर आपकी फसल भी क्षतिग्रस्त हुई है तो इसकी सूची कृषि विभाग द्वारा तैयार किया जायेगा. यानी आपको अपने स्तर पर सिर्फ सूची मेंअपना नाम ऐड करवाना होगा बाकी लाभ आपको सरकार द्वारा मिल जाएगी|

About the author

Vikash Raj

Hey, I'm Vikash and I really love to write information related to Education. We provide the information related admit card, result, date sheet etc.

Leave a Comment