Sarkari Yojna

PM Kisan फॉर्म में इस गलती की वजह से 70 लाख किसानों को नहीं मिलें 2000 रुपये का क़िस्त, जानिए पूरी जानकारी

PM Kisan Yojna:- नमस्कार दोस्तों, अगर आप भी एक किसान हैं और केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कर चुके हैं, तो आप सभी के लिए एक बड़ी खबर सामने निकलकर आ रही है. हाल हीं में यह खबर सामने आया है की पीएम किसान सम्मान निधि योजना में एक छोटी सी गलती की बजह से आवेदन कर चुके 70 लाख से अधिक किसानों पर बहुत भारी पड़ गया है. जिसकी पूरी डिटेल जानकारी इस लेख के माध्यम से आप सभी के बिच शेयर किया जा रहा है|

क्या आपको भी अनुमान है की एक Spelling की गलती पर PM Kisan में पंजीकृत 70 लाख किसानों पर इतनी भारी पड़ेगी, तो बिलकुल ऐसा ही हुआ है. किसान के कागजातों में हुई इस गलती से किसानों को करीब 4200 करोड़ रूपये की आर्थिक मदद का नुकसान पहुंचा है. जब तक यह गलती ठीक नहीं होगी तब तक अब इतनी बड़ी संख्या में किसानों को पीएम किसान योजना का लाभ नहीं मिल पायेगा.

आप जानते होंगे की पीएम किसान स्कीम में अब तक किसानों को पांच किस्तों का पैसा बैंक खाते में भेजा जा चूका है, जबकि इस वर्ष की भी 2,000 रुपये की पहली क़िस्त लाभार्थी किसानों के खाते में भेजे जा चुके हैं. लेकिन अब 70 लाख किसान ऐसे हैं जिन्हें इसका लाभ अभी तक नहीं मिल पाया है.अगर आप भी एक गलती कर बैठे हैं, जिसकी वजह से योजना का पैसा आपके खाते में नहीं आया है. तो इन नियमों को फॉलो करते हुए अपनी गलती सुधारनी होगी|

कहाँ हुई है ये गलती

अगर आपने भी पीएम किसान के लिए रजिस्ट्रेशन किया है और अभी तक इसका लाभ नहीं मिला है तो हो सकता है आपके डॉक्यूमेंट में गलती हो, जो आप निचे से पढ़ सकते हैं|

  • पीएम किसान स्कीम के आवेदनकर्ताओं के नाम और बैंक अकाउंट नंबर में गड़बड़ी है.
  • बैंक अकाउंट और अन्य कागजातों में नाम की स्पेलिंग भिन्न है. जिसकी वजह से स्कीम का ऑटोमेटिक सिस्टम उसे पास नहीं करता.
  • PM Kisan Scheme के सीईओ विवेक अग्रवाल ने हाल हीं में कुछ मीडिया से हुई बातचीत में बताया कि ‘ऐसी गड़बड़ी करने वाले आवेदक किसानों की संख्या करीब 70 लाख है. जबकि तक़रीबन 60 लाख लोगों के आधार कार्ड में गड़बड़ी है.

अभी तक केंद्र तक नहीं पहुंचा कागजात

वेरीफिकशन के लिए पेंडिंग हैं 1.25 करोड़, यानि सवा करोड़ से कुछ ज्याद हीं कागजात अभी वेरिफिकेशन के लिए पेंडिंग हैं|

मतलब यह है की पीएम किसान स्कीम के पैसे के लिए आवेदन करने के बावजूद भी देश भर के करीब 1.3 करोड़ किसान सालाना 6000 रुपये के लाभ से वंचित हैं. इतना हीं नहीं, कई जिले ऐसे भी है जहां पर सवा-सवा लाख किसानों का डेटा वेरीफिकेशन के लिए पेंडिंग है. जब राज्य सरकार किसान के डाटा को वेरीफाई करके केंद्र सरकार को भेजती है तब जाकर लाभार्थी किसानों के बैंक खाते में पैसा भेजा जाता है|

आवेदन में अपनी गलती को कैसे सुधारें

  • आप सबसे पहले इस पेज में दिए गये लिंक से पीएम किसान स्कीम के अधिकारीक वेबसाइट पर जाएँ.
  • इसके होम पृष्ट पर जाने के बाद फॉर्मर कार्नर से एडिट आधार डिटेल्स बाले विकल्प पर क्लिक करें.
  • क्लिक करने पर एक पेज खुलेगा, जिसमे आपको अपना आधार नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करके सबमिट पर क्लिक कर दें.
  • यहाँ पर आपके द्वारा भरे गए आवेदन फॉर्म खुल जायेगा.
  • जिसमे सभी बिबरन को चेक करके मैच करें, अगर कोई डिटेल गलत है तो आप उसे सही करें.
  • अगर आपका नाम की जगह कोई गलती है तो आपको  कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करना होगा.

अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए:- यहाँ क्लिक करें

तो अगर आपने भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन किया है और अभी तक इस योजना के तहत मिलने बाली 2000 रुपये की क़िस्त आपके खाते में नहीं आया है तो आप बताये गये तरीके को फॉलो करके अपनी गलत डिटेल को सुधार सकते हैं|

About the author

A to Z Classes

We provide you latest job information, shortcut math tricks, shortcut gk tricks and a lot of updates in Hindi. So Bookmark this site by Ctrl+D on You Laptop :)

Leave a Comment